आधार वर्चुअल आईडी कैसे बनाये


आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) कैसे बनाये, आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) कैसे जनरेट करे, आधार कार्ड नंबर की आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) क्या है – इस पोस्ट में हम Aadhaar Virtual ID Kya Hai Aur Kaise Banaye के बारे में बता रहे है. पिछली पोस्ट्स में हमने बताया था कि मोबाइल नंबर पोर्ट कैसे करते है, और कंप्यूटर लैपटॉप को हैंग होने से कैसे बचाते है. आजकल अधिकतर काम में आधार कार्ड यूज़ (Aadhaar Card Use) किया जाता है. बैंक अकाउंट खुलवाना हो, नया सिम कार्ड खरीदना हो, कोई प्रमाण पत्र बनवाना हो, पासपोर्ट बनवाना हो, ज़मीन की रजिस्ट्री करवानी हो, या कोई सरकारा काम हो, सभी जगह पर हमे आधार कार्ड नंबर (Aadhaar Card Number) देना ज़रूरी होता है. जब हम अपने आधार कार्ड नंबर (Aadhaar Card Number) को किसी के साथ शेयर करते है, तो उसके गलत इस्तेमाल होने का खतरा भी बना रहता है. इसलिये यूआईडीएआई (UIDAI) ने सभी भारतवासियो को अपने अपने आधार कार्ड की एक आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) बनाने का ऑप्शन दिया है. अगर हम सिक्योरिटी रीज़न (Security Reasons) की वजह से अपने आधार कार्ड नंबर को किसी के साथ शेयर (Share) नहीं करना चाहते तो आधार कार्ड की वर्चुअल आईडी को शेयर कर सकते है. जिससे हमारी पर्सनल इन्फोर्मेशन (Personal Information) के मिसयूज़ होने का खतरा नहीं रहता. और हमारा आधार कार्ड सेफ (Aadhaar Card Safe) रहता है.


लेकिन बहुत लोग इसके बारे में नहीं जानते कि आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) क्या है, आधार वर्चुअल आईडी कैसे (Aadhaar Virtual ID) बनाये, और आधार कार्ड की वर्चुअल आईडी बनाने के फायदे क्या है. यदि आप एक भारत के नागरिक है, और आपके पास आधार कार्ड है, तो आपको आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) के बारे में पता होना चाहिये.

क्योंकि हम सभी जानते है कि हमे अपने आधार कार्ड (Aadhaar Card) को बहुत सी जगह पर इस्तेमाल करना पड़ता है. और उसके 12 अंको के नंबर को शेयर करना पड़ता है. जिससे हमारे आधार कार्ड की पर्सनल इन्फोर्मेशन (Personal Information) लीक होने का खतरा रहता है. लेकिन आधार वर्चुअल आईडी का यूज़ (Aadhaar Virtual ID Use) करके इस खतरे से बचा जा सकता है. चलिए, अब डिटेल से जान लेते है कि आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) क्या है, आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) कैसे बनाये, और इसके फायदे क्या क्या है.


आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) क्या है

कुछ दिनो पहले आपने आधार डाटा के लीक (Aadhaar Data Leek) होने की खबरे समाचार पत्रो में पढ़ी और न्यूज़ चैनल्स में सुनी होगी. ये खबर आते ही, वे सभी भारतीय नागरिक, जिनका आधार कार्ड बन चुका था, टैंशन में हो गए थे. क्योंकि एक तरफ तो सभी नागरिक अपना अपना आधार कार्ड बनवाकर, आधार नंबर को बैंक अकाउंट, ज़मीन, गैस क्नेक्शन, सिम कार्ड, पैन कार्ड, और प्रमाण पत्र आदि से लिंक करवा रहे थे, और दूसरी तरफ आधार डाटा लीक (Aadhaar Data Leek) हो रहा था.

ये सब देखते हुए यूआईडीएआई (UIDAI) ने हमे अपने आधार कार्ड नंबर की एक आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) करने का ऑप्शन प्रोवाईड किया. जिसको यूज़ करके हम बहुत आसानी से अपने आधार कार्ड की एक वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकते है. और फिर उसको आधार नंबर की जगह यूज़ (Use) कर सकते है. आधार वर्चुअल आईडी का यूज़ (Aadhaar Virtual ID Use) करने से हमारे आधार कार्ड की सिक्योरिटी (Security) बरकरार रहती है. और हमारी पर्सनल डिटेल लीक (Personal Detail Leek) होने से बच जाती है.

आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) एक तरह से ओरिजनल आधार कार्ड की डुप्लीकेट (Duplicate) होती है. जिसमे कुछ लिमिटेड डिटेल (Limited Detail) ही शेयर की जाती है. और ये एक लिमिटेड समय (Limited Time) तक ही वैलिड रहती है. उसके बाद ये एक्सपायर (Expire) हो जाती है. हम कितनी बार भी आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) कर सकते है. यह बहुत सिक्योर (Secure) है, इसकी वजह से हमारी आधार डिटेल लीक नहीं हो सकती. इसके अलावा अगर हम दो बार आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) करते है, तो नई आधार वर्चुअल आईडी जनरेट करते ही, पुरानी वाली ओटोमेटिकली एक्सपायर (Automatically Expire) हो जाती है. चलिए, अब जाने कि आधार वर्चुअल आईडी जनरेट करने के लिये क्या क्या चाहिये, और आधार वर्चुअल आईडी कैसे बनाये.

आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) करने के लिये क्या क्या चाहिए

भारत के अंदर आधार कार्ड (Aadhaar Card) को आवश्यक दस्तावेज़ बनाने से इसकी उपयोगिता बहुत बढ़ गई है. आधार कार्ड के बिना हम भारत सरकार की बहुत सी स्किमो को पाने से वंचित रह सकते है. क्योंकि अब, बैंक अकाउंट खोलने, गैस क्नेक्शन लेने, सिम कार्ड पाने, कोई प्रमाण पत्र बनवाने, सरकारी स्कीमो को लेने, और ज़मीन आदि खरीदने में हमे इसको देना ज़रूरी होता है.

हमे हर जगह अपने आधार कार्ड को देना पड़ता है. इसके चलते, कुछ दिन पहले कई जगह से आधार डाटा लीक (Aadhaar Data Leek) होने की खबरे भी आई थी. जिसकी वजह से यूआईडीएआई (UIDAI) ने आधार वर्चुअल आईडी की सर्विस (Aadhaar Virtual ID Service) को लाँच किया. जिसका यूज़ करके हम अपने आधार डाटा का गलत उपयोग होने से रोक सकते है. अपनी आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) बनाने के लिये क्या क्या चाहिये, वे निम्न है.

1 – आधार कार्ड (Aadhaar Card)

सबसे पहले हमारा आधार कार्ड बना हुआ होना चाहिये, क्योंकि हमे आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) बनाने के लिये अपने आधार नंबर की ज़रूरत पड़ती है.

2 – मोबाइल नंबर (Mobile Number)

दूसरी सबसे ज़रूरी चीज़, मोबाइल नंबर है. हमारे पास अपने आधार कार्ड में पहले से ही रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (Registered Mobile Number) होना चाहिये. क्योंकि आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) करते समय हमारे मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है. जिसको हमे एंटर करना पडता है.

3 – कंप्यूटर या मोबाइल (Computer or Mobile)

आधार कार्ड और मोबाइल नंबर के अलावा हमारे पास ऐसा मोबाइल फोन या कंप्यूटर भी होना चाहिये, जिस पर हम इंटरनेट चलाकर यूआईडीएआई (UIDAI) की वेवसाइट पर विज़िट कर सके.

आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) कैसे बनाये

आधार कार्ड की डिटेल लीक होने की खबरे आने की वजह से, यूआईडीएआई ने आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) का निर्माण किया है. जिससे कि किसी भी इंसान की पर्सनल इन्फोर्मेशन (Personal Information) का गलत इस्तेमाल ना हो सके. आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) के आने से अब हमे अपने ओरिजनल आधार नंबर को शेयर करने की ज़रूरत नहीं है. हम इसकी जगह आधार वर्चुअल आईडी शेयर (Aadhaar Virtual ID Share) कर सकते है.

इसके लिये सबसे पहले हमे यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाकर अपने आधार कार्ड की वर्चुअल आईडी जनरेट (Virtual ID Generate) करनी पड़ती है. जिसको हम 2-4 मिनट में ही कर सकते है. अपने आधार कार्ड कि वर्चुअल आईडी को जनरेट करना बहुत आसान है. अगर आप इसके बारे में पूरी जानकारी चाहते है, तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े. क्योंकि आगे मै आपको आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) कैसे बनाये के बारे में बताने वाला हूं.

आज के समय में लगभग सभी भारतीय नागरिको के पास आधार कार्ड (Aadhaar Card) मौजूद है. क्योंकि इसका बनवाना सभी भारतीय नागरिको के लिये बहुत ज़रूरी है. इसे बनवाकर हम, बैंक अकाउंट ओपन (Bank Account Open) कर सकते है, गैस क्नेक्शन (Gas Connection) ले सकते है, पासपोर्ट (Passport) बनवा सकते है, प्रमाण पत्र (Certificates) बनवा सकते है, और भारतीय होने का सबूत आदि दे सकते है.


लेकिन क्या आपने कभी सौचा है, कि अगर हमारे आधार कार्ड की पर्सनल इन्फोर्मेशन लीक (Personal Information Leek) हो जाए, और उसका कोई गलत उपयोग करले, तो हम कितनी मुसीबत में पड़ सकते है. पहले इससे बचने का कोई उपाय नहीं था, लेकिन अब यूआईडीएआई ने आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) की फैसिलिटी को लाँच करके, हमारी आधार कार्ड सिक्योरिटी (Aadhaar Card Security) को बहुत मज़बूत कर दिया है. इसकी वजह से अब हमारी आधार डिटेल को किसी के लिये भी चुराना या हैक करना बहुत मुश्किल है. चलिए जाने कि आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) करने के लिये किन स्टेप्स को फोलो करना पड़ता है.

1 – यूआईडीएआई (UIDAI) की वेबसाइट पर विज़िट करे

  1. आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) बनाने कि लिये सबसे पहले यूआईडीएआई (UIDAI) की वेबसाइट पर विज़िट करे.
  2. वर्चुअल आईडी जनरेटर ऑप्शन (Virtual ID Generator Option) पर क्लिक करे.

2 – आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) करे

  1. 12 अंको का अपना आधार कार्ड नंबर एंटर (Aadhaar Card Number Enter) करे.
  2. सिक्योरिटी कोड एंटर (Security Code Enter) करे.
  3. सैंड ओटीपी (Send OTP) के बटन पर क्लिक करे. सैंड ओटीपी के बटन पर क्लिक करते ही हमारे मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड (One Time Password) आएगा.
  4. ओटीपी एंटर (OTP Enter) करे.
  5. जनरेट वीआईडी ऑप्शन (Generate VID Option) पर क्लिक करे.

जनरेट वीआईडी विकल्प (Generate VID Option) को सलेक्ट करते ही स्क्रीन पर हमे ‘Congratulations! Your Virtual ID Number Generated Successfully and Send to You Registered Mobile Number’ लिखा दिखाई देगा. और हमारे मोबाइल नंबर पर एक मैसेज (Message) आएगा. जिसमे एक आधार वर्चुअल आईडी नंबर (Aadhaar Virtual ID Number) होगा. जिसे हम अपने आधार कार्ड नंबर की जगह कहीं भी उपयोग (Use) कर सकते है.

आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) के फायदे क्या है

  • हमे अपने ओरिजनल आधार नंबर शेयर (Original Aadhaar Card Number Share) करने की ज़रूरत नहीं पड़ती, इसकी जगह हम आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) को शेयर कर सकते है.
  • आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) की डुप्लीकेट कॉपी (Duplicate Copy) नहीं बन सकती. जिसकी वजह से किसी के आधार डाटा मिसयूज़ (Aadhaar Data Missuse) नहीं हो सकता.
  • यह लिमिटेड समय (Limited Time) के लिये ही वैलिड रहती है. उसके बाद अपने आप एक्सपायर (Expire) हो जाती है.
  • इसके बनाने की कोई लिमिट (Limit) नहीं होती, हम जितनी बार चाहे आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) बना सकते है.
  • अगर हम किसी के साथ आधार वर्चुअल आईडी नंबर को शेयर (Aadhaar Virtual ID Number Share) करते है, तो वह इससे हमारे ओरिजनल आधार नंबर का पता नहीं कर सकता.
  • आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) की वजह से हमारी पर्सनल इन्फोर्मेशन (Personal Information) गुप्त रहेगी. और कोई भी हमारी पर्सनल इन्फोर्मेशन का गलत इस्तेमाल नहीं कर सकेगा.
  • हम एक दिन में अपने आधार कार्ड की कितनी भी वर्चुअल आईडी (Virtual ID) बना सकते है.
  • जब हम नई आईडी (New ID) बनाते है, तो पुरानी वाली आधार वर्चुअल आईडी ओटोमेटिकली एक्सपायर (Aadhaar Virtual ID Automatically Expire) हो जाती है.
  • हमारी आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) को हमारे अलावा कोई दूसरा व्यक्ति जनरेट (Generate) नहीं कर सकता, क्योंकि जनरेट करते समय हमारे मोबाइल नंबर पर एक मैसेज (Message) आता है. जिसमे एक वन टाइम पासवर्ड (One Time Password) होता है. जिसको एंटर करने के बाद ही हम अपनी आधार वर्चुअल आईडी जनरेट (Aadhaar Virtual ID Generate) कर पाते है.

इनके अलावा भी आधार वर्चुअल आईडी नंबर जनरेट (Aadhaar Virtual ID Number Generate) करने और उपयोग करने के बहुत सारे फायदे होते है. सबसे अच्छी बात तो ये होती है कि कोई भी गलत इंसान हमारे आधार कार्ड में रजिस्टर्ड हमारी पर्सनल इन्फोर्मेशन (Personal Information) तक नहीं पहुंच सकता. और उसका गलत उपययाग नहीं कर सकता.


हम उम्मीद करते है, इस पोस्ट को पढ़कर आप जान गए होंगे कि आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) क्या होती है, आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) कैसे बनाते है, आधार कार्ड की वर्चुअल आईडी को जनरेट कैसे करते है, और इसके क्या क्या फायदे होते है.

ये ज्ञानवर्धक लेख भी ज़रूर पढ़े :

आधार वर्चुअल आईडी कैसे बनाये
5 (100%) 26 votes

इस पोस्ट को शेयर करे

FacebookTwitterWhatsAppBufferLinkedInPinterest

Leave a Comment